Header Ads

Home Ayurvedic Remedy For Loose Motion

Home Ayurvedic Remedy For Loose Motion

loose motion क्या होता है?
loose motion का मतलब है दस्त लगना, ये क्यों होता है क्या अपने कभी जानने की कोसिस की है . मै आपको ऐसे उपाए बता रह हूँ जो की बहुत ही कारगर साबित हुवे है आज के मॉडर्न टाईम में भी. अगर किसी  आदमी, औरत और बच्चे को रात में दस्त शुरु हो जाए , और आपके पास कोई मेडिसिन भी नहीं हो उस वक़्त आप मेरे बताए उपाए अपना कर इस रोग को ठीक कर सकते है . इस का मै संजय कुमार सैनी १००% गारटी लेता हूँ 

दस्त लगने के कारण 

इसके दो कारण 

१. रात का बचा हुवा खाना सुबह खाने से, 
२. अपने शारीर के अन्दर गर्मी की मात्र अधिक हो जाने के कारण भी दस्त लगने शुरु हो जाते है . देसी भाषा में इसका एक कारण और भी है धरण डिगना यानि की नाभि का गोला नाभि से थोरा सा उपर और निचे हो जाने पर भी दस्त लगने शुरु हो जाते है .

उपाए 

1. दस्त बहुत ही पतले लग रहे हो और बार बार लग रहे तब उस स्तथी में मरीज के शारीर में पानी की कमी होने लगती है आप उसको बार बार पानी पिलाये .
2. babchi एक असी दवा है जिसको ले पर तुरंत दस्त ठीक हो जाते है इसको लेने का तरीका है इसको थोरा पिस लीजिए. पिसाई करने के बाद एक चम्मच ठन्डे पानी के साथ या लस्सी के साथ ले लीजिये आपका दस्त तुरंत ठीक हो जायेगे . babchi  को आप आसानी से किसी भी किरणे की दुकान से खरीद सकते है 
babchi seeds

3. दस्त रोकने का तीसरा उपाए है यह भी babchi की तरह ही काम करता है शायद बहुत कम लोग जानते है की चाय अपनी जिब की तो गर्म लगती है लकिन अपने शारीर को ठंडा रखती है ये शारीर की गर्मी को ख़तम करती है दस्त शुरु होने पर चाय की पत्ती को थोरा पिस कर ठंडे पानी के साथ ले , अगर ज्यदा लग रहे हो तो १ घंटे का अन्तराल दे कर फिर दे . रोगी के दस्त तुरंत ठीक हो जायगे .

चाय की पत्ती


No comments

please comment me.

Powered by Blogger.